Home टेक इंडस्ट्री नए साल के साथ वनप्लस कोंसेप्ट का पहला स्मार्टफोन हुआ लांन्च

नए साल के साथ वनप्लस कोंसेप्ट का पहला स्मार्टफोन हुआ लांन्च

by Upasana Verma

चाइनीज़ स्मार्टफोन कंपनी वनप्लस  ने कई टीजर और ट्रेलर के बाद अपने बहुप्रतीक्षित स्मार्टफोन वनप्लस कोंसेप्ट वन लांन्च किया। इस स्मार्टफोन का अनावरण लास वेगास में चल रहे कंस्यूमर ईलेक्ट्रोनिक शो 2020 में 7 जनवरी को किया गया। यह स्मार्टफोन सिर्फ एक कान्सैप्ट फोन है जो की सेल के लिए उपलब्ध नहीं है। कोंसेप्ट वन स्मार्टफोन दो इन्नोवेटिव फीचर्स पर आधारित है, पहला इस स्मार्टफोन का कलर, डिज़ाइनिंग, फिनिशिंग और इस स्मार्टफोन का इन्विसिबल कैमरा या फिर ये कहा जा सकता है की इस स्मार्टफोन के कैमरे को टेक्नोलोजी के माध्यम से छुपाया जा सकता  है। यह स्मार्टफोन मैकलारेन औटोमोटिव की पार्टनरशिप के साथ बनाया गया है इसलिए इस स्मार्टफोन का पूरा नाम वनप्लस कोंसेप्ट वन मैकलारेन एडिशन है।

10 हजार रूपये से कम की कीमत में बिकने वाले बेहतरीन स्मार्टफोन

वनप्लस कोंसेप्ट वन स्मार्टफोन एक कान्सैप्ट स्मार्टफोन हैं जिसमे वनप्लस 7T प्रो स्मार्टफोन को बेस स्मार्टफोन की तरह ईस्तेमाल किया गया हैं अर्थात वनप्लस 7T प्रो स्मार्टफोन की बेस मोडेल लेते हुए इसमे सारे इन्नोवेटिव बदलाव किए गए है। वनप्लस कोंसेप्ट वन स्मार्टफोन की डिज़ाइन की बात करें तो इसमे गोल्ड फिनिश के साथ एल्युमिनियम पीवीडी की बॉडी दी गयी है और इसके पीछे हिस्से पर पपाया ऑरेंज कलर की लेदर से फिनिशिंग दी गयी है।  स्मार्टफोन के पिछले हिस्से पर लेदर के बीचों बीच में ग्लास-सेक्शन दिया है जिसके नीचे ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। इस स्मार्टफोन का लुक मैकलारेन औटोमोटिव की मैकलारेन 720s स्पाइडर सुपरकार से मिलता-जुलता है।

चाइनीज़ स्मार्टफोन कंपनी वनप्लस ने वनप्लस कोंसेप्ट वन किया लांन्च

इस कार की सीट पर उपयोग किए जाने लेदर का उपयोग इस स्मार्टफोन के पिछले हिस्से में किया गया है । इसके साथ-साथ इस कार में सुनरूफ़ में उपयोग किए जाने वाले “स्मार्ट ग्लास” का ईस्तेमाल इस स्मार्टफोन में बतौर ग्लास-सेक्शन की तरह किया गया है।

वनप्लस कोंसेप्ट वन (इन्विसिबल) टेक्नोलोजी

वनप्लस कोंसेप्ट वन स्मार्टफोन दूसरी खासियत इसकी वह टेक्नोलोजी है जिसके मधायम से रियर कैमरा सेटअप इन्विसिबल या छुप जाता है। यह प्रक्रिया इस स्मार्टफोन में उपयोग किए इल्क्ट्रोक्रोमिक ग्लास या स्मार्ट ग्लास के मधायम से संभव है जिसे कैमरा सेटअप के ऊपर प्लेस किया गया है। इल्क्ट्रोक्रोमिक ग्लास को इस तरह से परिभाषित किया जा सकता है की जब भी इस ग्लास पर करेंट या वोल्टेज अप्लाई की जाती है तब इस ग्लास की लाइट ट्रांसमिसन विशेषताएँ बदल जाती हैं और यह ट्रांसपेरेंट (पारदर्शक) से ओपेक (अपारदर्शक) या ओपेक से ट्रास्परेंट में बदल जाता है।

नए साल की शरुआत सैमसंग गैलेक्सी नोट 10 लाइट के साथ

चाइनीज़ स्मार्टफोन कंपनी वनप्लस ने वनप्लस कोंसेप्ट वन किया लांन्च

इस टेक्नोलोजी के अनुसार फोन का कैमरा सेटअप एक जगह रहता है परतु कैमरा एक्टिवेसन के समय कैमरा के ऊपर लगाए गए ग्लास को करेंट मिलती है जिससे ग्लास ट्रांसपेरेंट या पारदर्शी हो जाता है और कैमरा दिखने लगता है। इसी अनुसार जब कैमरा एक्टिवेट नहीं होता तो ग्लास ओपेक रहता है और कैमरा सेटअप दिखाई नहीं देता।  इस स्मार्टफोन में उपयोग किया गया इल्क्ट्रोक्रोमिक ग्लास विश्व का सबसे पतला ग्लास है तथा इस स्मार्टफोन में इस ग्लास की मोटाई 0.35एमएम है। इस स्मार्टफोन में उपयोग किए गए इस ग्लास को ट्रांसपेरेंट से ओपेक या ओपेक से ट्रास्परेंट में बदलने में सिर्फ 0.7 सेकेण्ड्स लगते है और इसके लिए न के बराबर ऊर्जा की खपत होती है, अर्थात बैटरी चार्ज पर कोई असर नहीं पड़ता। इसके अलावा वनप्लस कोंसेप्ट वन स्मार्टफोन के कैमरे में ND8 फिल्टर फीचर भी जोड़ा गया है जो की ब्राइट लाइट में बेहतर फोटो खीचने में मददगार होगा।

कोंसेप्ट वन टेक्नोलोजी का भविष्य में उपयोग

कोंसेप्ट वन वनप्लस स्मार्टफोन में उपयोग की गयी इन्विसिबल कैमरा टेक्नोलोजी वर्तमान समय में अधिक लाभकारी नहीं है। लेकिन बढ़ती हुई टेक्नोलोजी और स्मार्टफोन पर बढ़ते हुए कैमरा की संख्याओं को देखते हुए यह कहा जा सकता है की या टेक्नोलोजी भविष्य में लाभकारी जरूर हो सकती है।

चाइनीज़ स्मार्टफोन कंपनी वनप्लस ने वनप्लस कोंसेप्ट वन किया लांन्च

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.