Home 5जी जाने कौन से है 5जी नेटवर्क इस्तेमाल करने वाले देश

जाने कौन से है 5जी नेटवर्क इस्तेमाल करने वाले देश

by Mukul Sharma
countries using 5G network

आज कल के भाग दौड़ की लाइफ में हम इतने व्यस्थ हो गए हैं की हमारे पास काम ज्यादा और समय कम सा लगने लगता है। समय की बचत के लिए हम ज्यादा से ज्यादा काम को Internet ( इंटरनेट ) के द्वारा खुद करने लगे हैं। इंटरनेट हमे चारों तरफ से  घेरे हुए है बात चाहे मनोरंजन की हो , बैंकिंग की या फिर फाइनेंस की हो या सोशल नेटवर्क की या फिर Online ( ऑनलाइन ) टुटोरिअल या फिर Online game ( ऑनलाइन गेम) हम Internet ( इंटरनेट ) के मदद से सारे काम को संपूर्ण करते हैं। कुछ लोग एक साथ मल्टी टास्किंग भी करते हैं। क्या आप जानते हैं की इंटरनेट क्या होता है। अगर आप नहीं जानते हैं तो हम आपको बता दें की इंटरनेट स्पेक्ट्रम का एक पैकेट होता है जो हमारे डाटा को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने में चैनल का काम करता है। इसे साइंस के टर्म में बैंडविड्थ कहते हैं।

अब बैंडविड्थ जितना ज्यादा होगा उतना ही अच्छा हमारा डाटा फ्लो होता है। अगर बैंडविड्थ की कमी होती है तो हम एक साथ ज्यादा काम Internet ( इंटरनेट ) की मदद से नहीं कर सकते हैं। मान लीजिये की आपको स्काइप पर Online ( ऑनलाइन ) Video Chat ( वीडियो चैट )करनी है और साथ ही साथ आप कुछ डाटा या फिर फाइल डाउनलोड कर रहे हों और आपके इंटरनेट की स्पीड कम हो तो आप समस्या महसूस करेंगे और आपका डाटा इंटरप्ट होगा और आपकी कॉल बीच में या फिर डाउनलोड बीच में कैंसिल हो सकता है। इंटरनेट की स्पीड कम है; इसका सीधा मतलब ये होता है की आपकी Internet ( इंटरनेट ) की बैंडविड्थ कम है। अगर आप मल्टीटास्किंग हैं या फिर हाई बैंडविड्थ की आपको जरुरत है तो आपको इंटरनेट की अच्छी सर्विस चाहिए होगी।

रीयलमी 6 सीरीज के साथ रीयलमी बैंड भी भारत में हुआ लॉन्च, जाने कीमत और फीचर्स             

आप जो Internet ( इंटरनेट) इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर आप जो इंटरनेट की सर्विस लेने जा रहे हैं या फिर कौन सा इंटरनेट की सर्विस पैकेज लेना चाहिए; इन सारी  चीजें इस बात पर निर्भर करती है की आप इंटरनेट से क्या सुविधा लेना चाहते हैं । इंटरनेट तथा इससे संबंधित सारे पहलु को समझने के लिए आपको इंटरनेट की टेक्नोलॉजी तथा कुछ टर्मिनोलॉजी को समझना चाहिए । इंटरनेट वर्जन के तौर पर विकास किया है इसके वर्जन 0जी से 5G ( 5जी) तक पहुंच गया है । 0जी की मदद से लोग वायरलेस टेलीफोन की मदद से एक दूसरे से कनेक्ट हो पाते थे वो बस कॉल कर पाते थे । 0जी टेक्नोलॉजी वायर्ड टेलीफोन के एडवांसमेंट के तौर पर देखा गया । उस वक़्त लोग मैसेज भी नहीं सेंड कर पाते थे । और इस तरह से इंटरनेट का वर्जन बढ़ता गया और इसके फीचर बढ़ते गए , अगर बात सबसे लेटेस्ट वर्जन 5G ( 5जी ) की करें तो ये डिजिटल सेलुलर नेटवर्क का लेटेस्ट वर्जन कहलाता है । 2018 में इन्वेंशन के साथ साथ ये 2019 में डेप्लॉय कर दिया गया है

countries using 5G network

हालाँकि अभी इस टेक्नोलॉजी में निरंतर काम चल रहा है । अगर 4G ( 4जी ) से तुलना किया जाये तो 5जी में डाटा कर्रिएर वाले कवर्ड एरिया को छोटे छोटे पार्ट में बाँट दिया जाता है जिसे की हम सेल कहते है । 5G ( 5जी ) की स्पेक्ट्रम तीन पार्ट में डीवाइड होता है; मिलीमीटर वेव, लो बैंड तथा मिडिल बैंड लो बैंड तथा मिडिल बैंड 4G ( 4जी ) की फ्रीक्वेंसी के समतुल्य होता हैI मिलीमीटर वेव हमारे कर्रिएर डाटा को रोबस्ट करता है ।5G ( 5जी ) की मिलीमीटर वेव फास्टेस्ट स्पीड प्रोवाइड करता हैI अगर आप कुछ डाउनलोड करना चाहेंगे तो ये टेक्नोलॉजी आपको 1-2 Gb/sec की स्पीड के साथ आपके फाइल को डाउनलोड करेगा । 5G ( 5जी ) टेक्नोलॉजी आपके डाटा ट्रांसमिशन की रेट को मिनीमाईज करता है । यूं कहें की आपके डाटा सेकंड के फ्रैक्शन पार्ट में एक नोड से दूसरे नोड पर ट्रांसफर हो जायेगा । अगर कॉस्ट की बात की जाये तो तुलनात्मक रूप से ये टेक्नोलॉजी अपने पिछले कॉउंटरपार्ट से महंगा हैI अभी की समय में ये टेक्नोलॉजी लगभग 50Mbps से लेकर 2Gbps की स्पीड प्रोवाइड करता है पर ऐसा माना जा रहा है की इसकी स्पीड को 100Gbps तक इम्प्रूव किआ जा सकता है । जो लगभग 4जी का 100 गुणा होगा ।

साउथ कोरिया

साउथ कोरिया के एस के टेलीकॉम ने लगभग 2017 में ही 5G ( 5 जी ) को मार्किट में उतार दिया थाI हालाँकि कमर्शियल तौर पर ये कुछ दिनों के बाद लांन्च किया गया पर अगर अमेरिका से तुलना करें तो साउथ कोरिया इसके बहुत सारे पहलु में आगे है , साउथ कोरिया में एस के टेलीकॉम तथा कोरियाई टेलीकॉम कम्पेटेटर है ।

south kaorea 5g

एस के टेलीकॉम अमेरिका के वेरीजोंन, जो बहुत सारे देशों में अपना बिज़नेस करती है, के राइवल मानी जाती है । इस देश के कंस्यूमर ने भी इस टेक्नोलॉजी के एनहांसमेंट तथा एडवांसमेंट में बड़ा योगदान दिया है । स्मार्टफोन की मैन्युफैक्चरिंग से लेकर ब्राडबैंड तथा स्पेक्ट्रम एलोकेशन; सारे एरिया में यहां के कंस्यूमर ने योगदान दिया हैI यहाँ के कंस्यूमर सबसे ज्यादा 5G टेक्नोलॉजी उपयोग करते हैं ।

यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका

ये टेक्नोलॉजी सबसे पहले नासा के द्वारा प्रारूप में लाया गया थाI नासा ने ऍम टू ऍम आई कारपोरेशन की मदद से जॉइंट वेंचर के तहत इस टेक्नोलॉजी का अविष्कार किया । फिर नार्थ कोरिआ ने पब्लिक तथा कमर्शियल उपयोग के लिए इस टेक्नोलॉजी को मार्किट में उतारा , अभी के समय में इस टेक्नोलॉजी में निरंतर इनोवेशन चल रहा है पर यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका सबसे बड़ा उपभोगता है । अमेरिका में एटीएडटी, वेरिजॉन, स्प्रिंट तथा टी मोबाइल; चार महत्वपूर्ण 5 जी की सर्विस प्रोवाइडर है ।

United States of America

अमेरिका की एटलांटा में इससे सम्बंधित सबसे ज्यादा कंपनियां है । अमेरिका में 5G (5जी ) की सबसे पहले घोषना सितम्बर 2018 में की गयीI दिसंबर 2018 में सबसे ए टी एंड टी ने पेड सर्विस प्रोवाइड की , मार्च 2019 में वेरिजॉन ने अमेरिका के कई शहरों में 5जी सर्विस प्रोवाइड किया तथा साथ ही साथ में सैमसंग, जिसने सबसे पहला 5जी के कम्पेटिबल स्मार्टफोन बनाया; को मई 2019 में मार्किट में कॉन्ट्रैक्ट लेकर बेचना शुरू किआI धीरे धीरे अमेरिका में कई शहरों में 5जी की शुरुआत हुई ।

स्नेपड्रैगन प्रोसेसर और 5 जी नेटवर्क से साथ वीवो Z6 स्मार्टफोन हुआ लांन्च, जाने फीचर्स और कीमत

यूनाइटेड किंगडम

यूनाइटेड किंगडम में5G ( 5जी ) का काम जोरों से चल रहा हैI यहां की वोडाफोन 5G (5जी ) की मुख्य सर्विस प्रोवाइडर हैI यहां नोकिआ, हुआवे तथा इरिक्सन5G ( 5जी ) टेक्नोलॉजी के लिए इक्विपमेंट प्रोवाइड करती हैI काम को रफ़्तार देने के लिए यहां की वोडाफोन O2 से कोलाबोरेट करके अपने अपने इक्विपमेंट को शेयर कर रहे हैं ताकि रेडियो एक्सेस नेटवर्क को टेस्ट करके पुरे यूनाइटेड किंगडम में उपभोक्ता के लिए 5G ( 5जी ) उपलब्ध करा सकेI वोडाफोन तथा O2 मिलकर पुरे यूनाइटेड किंगडम में ऐन्टेना सेटअप तथा केबलिंग कर रहें हैं

uk 5g

कॉर्नर स्टोन नाम की कंपनी इन दोनों कंपनी की सुविधा का उपयोग कर लोगों तक 5G ( 5जी )स्पेक्ट्रम लोगो तक पंहुचा रही हैI कॉर्नर स्टोन कंपनी यहाँ मिडिलवेयर के तौर पर एक्ट कर रही हैI यूनाइटेड किंगडम से निकलकर वोडाफोन इटली तथा स्पेन में भी 5G ( 5जी ) टेक्नोलॉजी के प्रचार प्रसार पर काम कर रही है

सुपर फ्लैश चार्ज टेक्नोलोजी और 5जी नेटवर्क सपोर्ट के साथ iQOO 3 स्मार्टफोन हुआ लांन्च

जर्मनी                                                                                

5G ( 5जी ) टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में जर्मनी का स्थान भी यूनाइटेड स्टेट्स तथा यूनाइटेड किंगडम के साथ खड़ा है, वोडाफोन तथा डच लीड यहाँ की सबसे बड़ी कंपनी है । 2019 में वोडाफोन यहां की बहुत सारे शहरों में 5G टेक्नोलॉजी इंस्टाल की है । जर्मनी की कोलोग्ने, डुसेलडोर्फ़, म्युनिक तथा बर्लिन के ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र में 5 जी सर्विस पहुंच चुका है । वहां के उपभोक्ता 5जी सर्विस इस्तेमाल कर रही हैI जर्मन गवर्नमेंट स्पेक्ट्रम की ऑक्शन लगातार कर रही है तथा जर्मनी में नए नए बहुत सारे छोटे बड़े कंपनी स्पेक्ट्रम की बिड में पार्टिसिपेट कर रहे हैं ।

Germany 5g

अभी हाल में ही जर्मन गवर्नमेंट ने स्पेक्ट्रम की ऑक्शन की तथा Drillisch नाम की कंपनी ने 1I2 बिलियन डॉलर में 70 मेगा हर्ज़ का कॉन्ट्रैक्ट हासिल किएI तो इस तरह से जर्मनी में 5G का काम जोरों से चल रहा है ।

निकटतम भविस्य में आने वाले 5G ( 5 जी ) देश

साउथ कोरिया, यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ़ अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम के बाद और भी कंट्री 5जी को इनोवेट तथा डेप्लॉय बड़ी तेजी से कर रहे हैं, स्विट्ज़रलैंड, डेनमार्क, स्वीडन, आइसलैंड तथा फ़िनलैंड इनके बहुत ही अच्छा काम कर रही है , यहां की टेलीकम्यूनिकेशन कंपनियां नेटवर्क टावर यहां के शहरों में इंस्टाल कर रहे हैं तथा लगातार रेडियो एक्सेस नेटवर्क टेस्ट कर रहे है ताकि 5जी टेक्नोलॉजी की सर्विस को और भी रोबस्ट तथा एनहान्स किया जा सकेI  स्विस्सकॉम स्विट्ज़रलैंड की बड़ी टेलीकम्यूनिकेशन कंपनी है ।

5G network

ये स्विट्ज़रलैंड में 5जी स्पेक्ट्रम बिछा रही है , इसकी प्रदान करने वाली बैंडविड्थ सबसे ज्यादा डाटा ट्रांसमिशन स्पीड प्रोवाइड करती है । ऐसा दावा किए जा रहा है की स्विस्सकॉम आने वाले दिनों में हाईएस्ट स्पीड स्पेस्ट्रक्टूम की कर्रिएर चैनल इंस्टाल करने वाली है जो की 2I1 से लेकर 3I5 गीगा हर्ज़ तक की क्षमता रखती हैI अगर ऐसा होगा तो स्विट्ज़रलैंड दुनिआ की सबसे ज्यादा स्पीड की 5जी टेक्नोलॉजी प्रोवाइड करने वाली सबसे पहली देश साबित होगीI स्विट्ज़रलैंड की दूसरी बड़ी कंपनी सनराइज हैI ये स्विट्ज़रलैंड की 150 देशों में 5जी डेप्लॉय करने का दावा करती हैI यहाँ सैमसंग गैलेक्सी S10 हैंडसेट में 5जी की कम्पेटिबिलिटी को टेस्ट तथा यूज़ किया जाता है ।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.